Day 03 – shivani’s toy

कितना कुछ है सीखना,
अभी तो बस है शुरुवात,
बस चलना हि है आया अब तक,
सपनों को समझाने की है बात।

‘kitna kuch hai seekhna,
abhi toh bus hai shuruwaat,
bas chalna hi hai aaya ab tak,
sapno ko samjhaane ki hai baat’

Leave a Reply